Subconscious Mind Power - An Overview






सुमति की तो उस साड़ी को देख कर आँखें चमक उठी. बचपन से ही माँ की इस साड़ी के लिए उसके मन में ख़ास लगाव था. जब भी माँ ये साड़ी पहनती, वो अपनी माँ के आसपास ही उनके पल्लू से खेलते रहती थी. उस साड़ी का फैब्रिक रेशमी और सॉफ्ट था. वो उसके स्पर्श को कभी भूली नहीं थी. उसके मन में वही पुरानी प्यारी यादें फिर से आ रही रही थी. वो हमेशा सपने देखा करती थी कि काश वो कभी ये साड़ी पहन सके.

उसने अपनी दीदी को गले लगाने के लिए बाँहें खोल दी.

इस मनहूस वाक़ये के एक हफ्ते बाद एक रोज मैं दरबार से लौटा तो मुझे अपने घर में से एक बूढ़ी औरत बाहर निकलती हुई दिखाई दी। उसे देखकर मैं ठिठका। उसे चेहरे पर बनावटी भोलापन था जो कुटनियों के चेहरे की खास बात है। मैंने उसे डांटकर पूछा-तू कौन है, यहां क्यों आयी है?

सुमति का सर दर्द अब और बढ़ता ही जा रहा था. न जाने कितने नयी यादें उसकी आँखों के सामने दौड़ने लगी थी. उसका सर चकरा रहा था. और उस वक़्त उसके हाथों से उसकी साड़ी छुट कर निचे गिर गयी. उसने अपने सर को एक हाथ से पकड़ कर संभालने की कोशिश की. पर सुमति अब खुद को संभाल न सकी और वो बस निचे गिरने ही वाली थी. कि तभी चैतन्य ने दौड़कर उसे सही समय पर पकड़ लिया. सुमति अब चैतन्य की मजबूत बांहों में थी. उसके खुले लम्बे बाल अभी फर्श को छू रहे थे. और सुमति की आँखों के सामने उसके होने वाले पति का चेहरा था. चैतन्य की बड़ी बड़ी आँखें, उसके मोटे डार्क होंठ और हलकी सी दाढ़ी.. सुमति अपने होने वाले पति की बांहों में उसे इतने करीब से देख रही थी. और चैतन्य मुस्कुराते हुए सुमति को बेहद प्यार से सुमति की कमर पर एक हाथ रखे पकडे हुए थे, वहीँ उसका दूसरा हाथ सुमति की पीठ को छू रहा था.

Notice: No copyright violation meant. The images Allow me to share intended only to provide wings into the imagination for us Exclusive Girls who this Culture addresses as crossdressers. Photos will likely be taken off if any objection is elevated listed here.

wikiHow Contributor Yes it really is. Meditation is basically focusing your brain on a particular detail. If you focus yourself on God/the universe/a greater consciousness/peace, and many others., though stating your prayers, Then you definitely are meditating,

Only to fail time and again. Report card time further more embedded the perception as part of your mind when you noticed the glance of disappointment within your guardian’s eyes. (outer world managing the pondering which is amazingly Mistaken)

Here are a few other excellent content to study up on that will help you reach the ideal mind established and entice achievement. Click the link

‘By blogging, I am able to leap past this area and obtain affirmation for stating things which would only in any other case have gotten me glares and shunning.’

किसी को भी याद नहीं कि वो कभी लड़का भी थी. हर किसी की नज़र में वो हमेशा से ही लड़की थी. ऐसा कैसे हो सकता है? कैसा मायाजाल है ये? क्या इस दुनिया में कोई भी नहीं जो पुरानी सुमति को जानता हो? सुमति के मन में हलचल बढती जा रही थी.

While you target good thoughts, affirmations, and mantras all through this deeply peaceful condition, your subconscious will promptly start to reply and accept these positives as fact for yourself. You may meditate by sitting, lying flat in bed or maybe walking.

एक रोज शाम के वक्त रोज की तरह मैं आनंदवाटिका में सैर कर रहा था और फूलमती सोहलों सिंगार किए, मेरी सुनहरी-रुपहली भेंटो से लदी हुई, एक रेशमी साड़ी पहने बाग की क्यारियों में फूल तोड़ रही थी, बल्कि यों कहो कि अपनी चुटकिंयो मे मेरे दिल को मसल रही थी। उसकी छोटी-छोटी आंखे उस वक्त नशे के हुस्न में फैल गयी ,थीं और उनमें शोखी और मुस्कराहट की झलक here नज़र आती थी।

“जुग जुग जियो बेटी!”, उसके ससुर प्रशांत ने उसे आशीर्वाद दिया. “बेटी तुम्हारी जगह मेरे कदमो में नहीं मेरे दिल में है.”, उसकी सास कलावती ने नज़र उतारते हुए सुमति को फिर गले से लगा लिया. गले लगाते ही सुमति को माँ का प्यार महसूस हुआ. सुमति के चेहरे पर एक ख़ुशी भरी मुस्कान थी. उसे ऐसा अनुभव तो मधुरिमा के साथ भी होता था जो उसकी क्रॉस-ड्रेसर माँ थी.

We now here realize that almost everything inside the universe is created up of Strength. Almost everything from your items in your home, to the events that happen to you personally, and in some cases our views are made up of vibrations of Power.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *